Piles home remedies in Hindi – Causes and Treatment- 100% natural

piles home remedies in hindi
piles home remedies in hindi

Piles Home Remedies in Hindi – Causes and Treatment- 100% Natural Home Remedies | बवासीर के घरेलू उपाए

 दोस्तों आज हम Piles (piles home remedies in hindi, piles treatment yoga in hindi) जिसे हम बवासीर भी कहते है , उसखे बारे मे बात करेंगे। आजकल बहुत कम ऐसे लोग मिलेंगे जिन्हें बवासीर की problem न हो।

दोस्तों आमतौर में हमे कोई तकलीफ होती है जैसे सर्दी, जुकाम, पेट दर्द, सिर दर्द, घुटनों का दर्द आदि तो हम तुरंत डॉक्टर के पास चले जाते है और अपना इलाज करवाते है, लेकिन बवासीर की बीमारी हो जाए तो हम अपने घर मे भी किसी से जिक्र भी नहीं करते डॉक्टर के पास जाना तो दूर।  

नतीजा बवासीर की बीमारी बढ़ते बढ़ते भयंकर रूप धरण कर लेती है, और आगे छलके कैंसर होने की संभावना भी बढ़ जाती है। दोस्तों आज मई आपको बवासीर घर पर हे इलाज करके ठीक कैसे करे उसका कारगर तरीका और घरेलू नुस्खा बताने जा रहा हु और इस बवासीर की लड़ाई मे मई आपके साथ हूँ। अगर सच मे आप बवासीर की बीमारी से मुक्ति चाहते हैं तो ये पोस्ट पूरा जरूर पढे।

Piles Home Remedies in Hindi
Piles Home Remedies in Hindi

सबसे पहले बात करते है की कैसे पता करे की बवासीर की बीमारी हमें या किसी को है या नहीं ?

अगर मल त्यागते वक्त हर दिन जलन होती है। मल द्वार मे सुई चुभने जैसा दर्द होता है, मल द्वार मे सूजन आ जाती है, मटर या अंगूर के समान मस्से निकाल अति है। मल करते समय अधिक ज़ोर लगाना पड़ता है, और मल के साथ खून टपकने लगता है तो समझ लीजिये आपको बवासीर की बीमारी हो गयी है।

दोस्तों कोई भी तकलीफ हो या कोई भी बीमारी हो जाए, खुद का डॉक्टर खुद बनने की कोशिश करें। उस बीमारी के बारे मे पूरा पता करले बीमारी क्यों होती है, कैसे होती है, और क्या खाना खाये क्या न खाये। सारी जानकारी प्रपट कर ले ताकि हमे कोई डॉक्टर या वैद्य लूटे नहीं। 

इसलिए बवासीर की बीमारी के बारे मे भी जानना जरूरी है।

चलिये जानते है बवासीर की बीमारी क्या है और क्यो होती है? what are causes of piles

Diabetes :

बवासीर या Piles की बीमारी एक गुदामर की बीमारी है, बवासीर होने का मुख्य कारण कब्ज़ यानि Diabetes है।

Fast foods , Junk Foods:

आजकल हम सभी का खान पान एकदम बादल गया है, ज्यादा से ज्यादा मसालेदार, चटपटी चीजों का सेवन हम करने लगे है। pizza, burger, तली हुई चीजों का सेवन हम ज्यादा मात्रा मे करने लगे हैं।

घंटो एक जगह बैठकर कम करते हैं इन सभी से होता क्या है? जब हम मसालेदार पिज्जा, बर्गर जैसी चीजों का सेवन करते है तो पाचन क्रिया मे गड़बड़ी उपत्पन्न हो जाती है।  कब्ज (Diabetes) हो जाता है, मल विसर्जन नॉर्मल तरीके से नहीं होता है।

हम टॉइलेट मे ज़ोर लगाकर हाईशा करते है निरंतर कब्ज बना रहने से और हर दिन हमारे टॉइलेट मे ज़ोर लगा के हाइसा के कारण हे बवासीर की बीमारी उत्पन्न होती है।

मल विसर्जन करते वक्त जब हम Pressure देते है तो मल द्वार मे मौजूद रक्त नलिका पर ज़ोर पड़ता है , और धीरे धीरे फूल कर मस्सो का रोग धरण कर लेती है।

मल द्वार मे फुली हुई मस्सों की तीन अवस्था होती है ( what is piles in Hindi ):

पहली अवस्था (piles in hindi) :

पहली अवस्था मे मस्से गुदा के भीतर होती है। मस्सो मे तकलीफ नहीं होती हमे इसका आभास तक नहीं होता। मल विसर्जन करते वक्त ज़ोर लगाने पर मस्सों से खून निकलता है इन्हे अंधरूनी बवासीर कहते है ।

दूसरी अवस्था (piles meaning in hindi) :  

दूसरी अवस्था मे मल विसर्जन करते समय ज़ोर लगाने पर मस्से गुदा के बाहर आ जाते है। परंतु मल विसर्जन के बाद वापस गुदा के अंदर चले जाते है। मस्सों से खून भी निकलता है और दर्द भी होता है।

तीसरी अवस्था :

तीसरी अवस्था मे मस्से गुदा के बाहर स्थायी रूप से निकले रहते है। बहुत ज्यादा खुजली जलन होती है बहुत ज्यादा दर्द भी होता है इन्हें बाहरी बवासीर कहते है (Outer Piles)।

कोई भी अवस्था की बवासीर हो जबतक कब्ज दूर नहीं होगा आप कितनी भी दावा खा लें उसका कोई लाभ नहीं होगा।

सबसे पहले हमे कब्ज को target करना होगा, दोस्तों तुरंत अभी से अपने आहार मे बदलाव कर डालें मसालेदार ताली हुई चीज़ें माइडे वाली चीजों का सेवन पूरी तरह बंद करदीजिए। चलिये जानते है बवासीर को खतम करने के लिए हमे क्या क्या करना चाहिए।

बवासीर होने के बाद इन बातों को जरूर अपनाएं piles treatment home remedies in hindi :     

भोजन मे हरी सब्जियों का इस्तेमाल ज्यादा करें, भोजन करते वक्त बीच बीच में गाजर, मुली कच्चा प्याज का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें।

भोजन मे ऐसे चीजों का सेवन करें जिसमे रेसे यानि Fiber काफी मात्रा मे हो। इस तरह का भोजन करने से मल विसर्जन सरलता से होगा बवासीर ठीक होने मे काफी सहायता होगा। आहार मे परिवर्तन के बाद कब्ज दूर करने का उपाए करना होगा।

बवासीर यानि Piles के घरेलू उपचार | piles home remedies in Hindi, home remedies for piles in hindi

1- अंजीर  (How To Cure Piles in Hindi) :

अंजीर
अंजीर  

2-3 अंजीर गरम पनि मे अच्छी तरह धोकर रात को काँच के गिलास मे भिगो के रखना है। सुबह खाली पेट अंजीर चबा चबा कर खाना है और बचा हुआ पनि पीना है। अंजीर के सेवा से 2-3 सप्ताह मे ही धीरे धीरे कब्ज की तकलीफ कम होने लगती है।

2- छाछ और अजवाइन का सेवन (bawaseer ki dawa hindi me ):

छाछ
छाछ
अजवाइन
अजवाइन

दोपहर के भोजन के बाद छाछ मे अजवाइन का थोड़ा सा चूर्ण सेंधा नमक मिला कर पीजिए। कब्ज दूर करने मे और बवासीर की बीमारी मे छाछ बहुत हे लाभकारी होता है। भोजन के आधे घंटे बाद फल के ठीक करने के साथ हे कुछ आयुर्वेदिक दावा का सेवन करना होगा।

3- अर्शकल्प वटी और त्रिफला चूर्ण (piles home remedies Ayurvedic in Hindi) :

(piles home remedies Ayurvedic in Hindi)
(piles home remedies Ayurvedic in Hindi)

अर्शकल्प वटी रोजाना एक या दो गोली सुबह खाली पेट लेना है और शाम को खाने से एक घंटा पहले पानी या छाछ के साथ लेना है। रात को सोने से पहले त्रिफला चूर्ण गरम पनि के साथ लें त्रिफला चूर्ण से मल विसर्जन जबरजस्त से होगा।

अर्शकल्प वटी और त्रिफला चूर्ण आयुर्वेदिक दावा के दुकान पर आसानी से मिल जाएगा, अर्शकल्प वटी के सेवन से मस्से सूख जाएगी और बहुत ही आराम मिलेगा।

4- ठंडी सेकाई ( piles pain relief home remedy in Hindi ) :  

4- ठंडी सेकाई ( piles pain relief home remedy in Hindi ) :
4- ठंडी सेकाई ( piles pain relief home remedy in Hindi ) :  

दोस्तों बवासीर यानि piles (bawaseer ka ilaj) के मामले मे अगर आपको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा तो ठंडी सेकाई आपको बहुत फायदा दे सकती है। इसके लिए आप किसी कपड़े पर यानि कपड़ा लीजिये उसके अंदर एक बर्फ का टुकड़ा रख लीजिये और इससे अपने मल द्वार की मालिश कीजिये।

मालिश का मतलब वह पर धीरे धीरे फेरिए इससे उस हिस्से का तापमान घाट जाता है और उससे हो कोशिकाएं है जो नालियाँ है वे सिकुड़ने लगती है और आपको बहुत तेजी से इस बवासीर की समस्या से आराम मिल जाता है।

यहाँ तक की आप जैसे हे ठंडी सिकाई करेंगे आधे घंटे बाद ही आपको बहुत आराम मिल जाएगा। 

5- किशमिश (home remedies of piles in Hindi) :

किशमिश
किशमिश

दोस्तों ये जो नुस्खा हम बताने जा रहे है आपको इसका इस्तेमाल करके आपको बवासीर की इमरी 1-2 दिन मे ही ठीक हो जाएगी। इसके लिए रात को आप एक कटोरी मे एक गिलास पनि ले लेना है, इसमे 10-15 किशमिश के दाने डालकर रात भर के लिए छोड़ देना सुबह तक किशमिश फूल जाएगी।

ये किशमिश आप इसी पानी मे अच्छी तरह से मसल लेना और अच्छी तरह से मिला लेना है। बस आपकी पैलेस के लिए दावा बन जाएगी किशमिश के इस पानी को आप सुबह सुबह खाली पेट पी लेना है। फिर इसके आधे घंटे तक कुछ मत लेना है।

दोस्तों किशमिश अंगूर से बनती है। अंगूर से बनने वाली चीज़ें पाचन तंत्र के लिए अमृत होती है । इसलिए किशमिश के इस पानी को लेते ही piles (piles home remedies in hindi) हाथों हाथ फ़एडा हो जाता है। ये बाहर निकले हुए मस्से का सीजे तुरंत कम कर देता है जिससे दर्द और जलन मे एक बार मे तुरंत आराम हो जाता है।

इससे खून गिरना भी बंद हो जाता है रोजाना लगातार इसका इस्तेमाल करने से हफ्ते भर मे ही piles ठीक हो जाता है। अगर मल त्यागते समय खून टपकता है तो उसका भी इलाज करना जरूरी है।

6- सफ़ेद कत्था (piles treatment home remedies in hindi) :

 सफ़ेद कत्था (piles treatment home remedies in hindi)
सफ़ेद कत्था (piles treatment home remedies in hindi)

सफ़ेद कत्था दुकान से ले आइए, पैन मे जो कत्था हम इस्तेमाल करते है उसी तरह सफ़ेद कत्था होता है, खाली उसका रंग सफ़ेद होता है। सफ़ेद कत्थे का पाउडर बना लीजिये, अब एक नींबू लेकर उसे बीच मे से काटकर दो हिस्से मे बाँट लीजिये,   

नींबू के बीजे निकाल दें सफ़ेद कत्थे का पाउडर कटे हुए दोनों नींबू के अंदर दबा दबा कर भरदीजिए। दोनों कत्थे से भरे नींबू एक दूसरे से जोड़े थोड़ा दबये और रात भर उसी हालत मे छोड़ दीजिये।

सुबह खाली पेट दोनों नींबू को धीरे धीरे चूस चूस कर खा लें। केवल एक सप्ताह मे ही मल द्वार से खून का टपकना बंद हो जाएगा।

7- काली मनुखे (bawaseer ka ilaj hindi mai) :

काली मनुखे
काली मनुखे

अगर मल द्वार से खून टपकना 7-8 महीने से जारी है तो शरीर मे खून की कमी हो जाती है। इसलिए खून की कमी को पूरा करना जरूरी होता है। रात को काली मनुखे एक गिलास भर पनि मे भिगोकर रख दें और फिर सुबह पनि पी ले।

लोहे के बर्तन मे दो कप दूध और एक कप पानी मिलाकर उसमें मनुखे डालकर उबालें। 5-10 मिनट तक उबालें और निरंतर हिलाते रहें ठंडा होने के बाद मनुखे चबाकर खा लें और दूध पिलें। ध्यान रखें बर्तन लोहे का ही होना चाहिए।

8- खजूर और शलजम (piles treatment home remedies in Hindi) :   

शलजम
शलजम
खजूर
खजूर

दूध के साथ 3-4 खजूर और भोजन करते समय शलजम खाते हों तो आपके शरीर की खून की कमी जल्दी से जल्दी भर जाएगी।

9- कपाल भारती प्राणायाम (piles treatment yoga in Hindi) :

 कपाल भारती प्राणायाम
कपाल भारती प्राणायाम

सुबह अगर आपको वक्त मिलता है तो बाहर morning walk के लिए जरूर जाइए और साथ मे कपाल भारती प्राणायाम 10-15 मीन रोजाना नियमित रूप से करिए आपकी बवासीर (piles treatment yoga in hindi) की बीमारी बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी।

conclusion:

हमने आपको कब्ज (Diabetes) और बवासीर यानि piles (piles home remedies in hindi) दूर करने के कई तरीके बताए। बवासीर ठीक करने की दावा बताई, हमारे सभी तरीके अपनाने के बाद भी अगर 3-4 महीने मे भी बवासीर के मस्से सुख नहीं जाते तो आपको हार नहीं मानना है। बवासीर ज्यादा पुरानी हो तो सभी नुस्खे फेल हो जाते है कोई दावा का सेवन करो लाभ नहीं होता। ऐसे मे हमे डॉक्टर के पास जाना हे पड़ेगा। महिला हो या पुरुष निसंकोच होकर डॉक्टर के पास जाना हे है।

आज के इस घरके नुस्खे (piles home remedies in hindi, piles home remedies ayurvedic in hindi, bawaseer ka ilaj hindi mai) मे बस इतना हे अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक करे और अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ भी जरूर शेर करे ताकि अगर उनमे से किसी को ये बीमारी हो और वे किसी को बताने मे शर्माते हो तो इस पोस्ट को पढ़कर वो अपनी बीमारी का खुद हे इलाज करलें ।

हमारी वैबसाइट मे आने का आपका धन्यवाद। आप हमे Social media मे भी फॉलो कर सकते है ताकि आपको हमरे सभी latest घर के नुस्खे के बारे मे सबसे पहले पता चल जाए। लिंक नीचे दी गयी है।

Follow us on Instagram for latest updates of our website @gharkenuskhe_online

Aap Hamare Facebook Page Ko Bhi Follow Kar sakte hai @Gharkenuskhe.online par

Piles home remedies in Hindi – Causes and Treatment- 100% natural

Piles home remedies in Hindi – Causes and Treatment- 100% natural

Learn more 5 Best Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

5 Best Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

Learn more Malaria Treatment in Hindi | Malaria Symptoms, Prevention with Home remedies

Malaria Treatment in Hindi | Malaria Symptoms, Prevention with Home remedies

Learn more

2 Comments

  1. Hi I am so happy I found your blog, I really found you by accident, while I
    was looking on Google for something else, Anyhow I am here now and would
    just like to say thanks a lot for a tremendous post and a all
    round interesting blog (I also love the theme/design), I don’t have time
    to look over it all at the moment but I have saved it and also
    added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a lot more, Please
    do keep up the superb jo.
    if you are interested then you can also visit this:
    Index of The Walking Dead

12 Trackbacks / Pingbacks

  1. Malaria Treatment in Hindi | Malaria Treatment with 100% Home remedies
  2. baal badhane ke nuskhe |10 Home Remedies for Long Hair | 100% Natural
  3. Mouth Ulcer Home Remedies in Hindi | 11Home remedies for Mouth Ulcers
  4. Pregnancy me Kya Khana hai... 1 से 9 महीने तक प्रेगनेंसी में क्या क्या खाना चाहिए
  5. 10 Facts You Never Knew About Banana Benefits.Banana health benefits
  6. 15 Unexpected Ways Snacks Healthy Junk Foods MakeYour Life Better.
  7. Height badhane ke Gharelunuskhe 25 के बाद height कैसे बढ़ाये आसान तरीके
  8. (100% Home Remedies) /चेहरे को दूध जैसा गोरा बनाने का जबरजस्त घर का नुस्खा
  9. Ankurit moong daal की 5 रोचक बातें जो आपको हैरान कर देंगी। Health Benefits
  10. diabetes-kya-hai,-डायबिटीज़-कैसे-होती-है?डायबिटीज़-के-लक्षण-और-उपाय-हिंदी-में!
  11. how to loose weight इसे पीने से 10 दिन में 14 किलो तक वजन कम कर दिया100%
  12. SoyaBean Recipes In Hindi Tasty & Healthy– Nutrela Soya Chunks Recipe

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*