5 Best Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

Teeth Sensitivity Home Remedies
Teeth Sensitivity Home Remedies

दांतों में ठंडा गरम लगने या सेंसिटिविटी के घरेलू समाधान Danton Mein Thanda Garam Lagne Ka Upchar / Teeth Sensitivity Home Remedies

आज हम बात करेंगे teeth sensitivity home remedies in hindi, ठंडा और गर्म पानी या कोई और चीज है जो दाँतो को  लगती हैं। उसके बारे में हम बताएंगे कि ऐसा क्यों होता है, और इससे बचने के लिए क्या घरेलू उपचार होते हैं।

चलिये जानते है की दाँतो की सेंसिटिविटी के क्या कारण होते है? causes for teeth sensitivity ?

Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi
Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

अगर दांतों में ठंडा गरम लगता है तो यह हो सकता है, सामान्यतः यह समस्या होती है की दाँतो की ऊपरी परत जो होती है जो कि। ठंडा और गर्म पानी लगने का जो कारण सबसे बड़ा होता है वह दांतो की ऊपरी कोटिंग  यानी जो protective coating होती है उसका हट जाना या उसका कमजोर हो जाना, इस Coating को समान्यतः डॉक्टर इनेमल कहते हैं। इनेमल दांतो के लिए सिक्योरिटी ( Security ) का काम करता है यह बाहर की चीजों को अंदर नसों में जाने से रोकता है। यदि आप बहुत तेजी से ब्रश करते हैं या कुछ ऐसी दांतों के साथ चीजें करते हैं, जो दांतों के इनेमल को डैमेज ( Damage ) करता है तो ऐसी समस्या हो जाती है।

Danto ki sensitivity

दांतो का संवेदनशील बना रहना (danto ki sensitivity ) महीने भर से सालों या बहुत दिनों तक चल सकता है। और यदि इनका समय पर इलाज नहीं किया गया तो यह समस्या परमानेंट (Permanent) भी हो जाती है और यह किसी प्रकार से ठीक नहीं होता है। इस कोटिंग का डैमेज  होना बैक्टीरिया होने का कारण होता है, बैक्टीरिया पनप जाते हैं मुंह में इसकी वजह से आपके दांत कमजोर पड़ जाते हैं और क्योंकि अंदर की नसें बाहरी इन्वायरमेंट को टच करने लगती हैं तो इसलिए हमको ठंडा गरम की सनसनाहट या झनझनाहट जैसी महसूस होती है।

Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

अब हम बात करेंगे कि इससे कैसे बचें और क्या घरेलू नुस्खे आप अपना सकते हैं danto ki sensitivity dur karne ke upay:

1- दिन मे दो बार ब्रश करें (danto me jhanjhanahat ka ayurvedic upchar)

Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi
Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi

 सबसे पहली बात हम यह कहेंगे की आपको कम से कम दिन में दो बार टूथब्रश ( Tooth Brush ) जरूर करना चाहिए और टूथ ब्रश करते समय अपने दांतो में बहुत ज्यादा दबाव नहीं डालना चाहिए, और यदि आपके दांतों में ठंडा गरम लगने लगा है यानी आपके दांत सेंसिटिव (danto ki sensitivity) हो चुके हैं । तो इसके लिए आपको बाजार में कुछ स्पेशल टाइप के टूथपेस्ट आते हैं उनको आप करें सामान्यतया जो दांतो को सफेद बनाने वाले टूथपेस्ट होते हैं उनका इस्तेमाल ना करें। क्योंकि यह सामान्य टूथपेस्ट दांतों को hard बनाते हैं यानी थोड़ा सक्त बना देते हैं जिससे परेशानी हो सकती है।

मुंह की सफाई Teeth Sensitivity Home Remedies

साथ ही मुंह की सफाई का आपको ध्यान रखना होगा जैसा कि आपको हमने भी बताया कि आपको दिन में कम से कम 2 बार यानी एक बार सुबह और एक बार शाम को ब्रश करने की जरूरत होगी।  इसके लिए आप नियमित रूप से ऐसा करें तो आपको फायदा मिलेगा।

2- नमक और पनि / salt water as mouth wash

Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi /  2- नमक और पनि / salt water as mouth wash
Teeth Sensitivity Home Remedies In Hindi / 2- नमक और पनि / salt water as mouth wash

  साथ ही एक उपचार हम बताएंगे जैसे पहले दादी नानी नुस्खे में बताती थी कि आप नमक और पानी को मिलाकर कुल्ला करें, यानि गार्गल करें तो इससे फायदा मिलता है इससे गम्स ( Gums) मजबूत होते हैं और दातों में फायदा मिलता है।

3- हार्ड ब्रश का इस्तेमाल नहीं करें – Never Use Hard Brush :

3- हार्ड ब्रश का इस्तेमाल नहीं करें – Never Use Hard Brush :
3- हार्ड ब्रश का इस्तेमाल नहीं करें – Never Use Hard Brush :

 आप अपने ब्रश को भी चेक कर ले कभी भी हार्ड ब्रश का इस्तेमाल नहीं करना है जब भी ब्रश लिया जाता है उसमें 1 लेटर लिखा होता है कि यह ब्रश हार्ड है, कि मीडियम है, कि सॉफ्ट है, कि वेरी सॉफ्ट है। तो आप वेरी सॉफ्ट या सॉफ्ट ब्रश का इस्तेमाल करें इससे आपके दांतों के इनेमल को प्रोटेक्ट होने में मदद मिलेगी।  साथ ही एक आप माउथ वॉश ( Mouth Wash ) भी इस्तेमाल करें।  जिससे यदि आपके मुंह में किसी प्रकार के बैक्टीरिया हैं, कोई सड़न है तो इस तरह की चीजों से आपको बचाता है।

4 – Ignore Sensitivity Foods ( Teeth Sensitivity Home Remedies) :

4 – Ignore Sensitivity Foods :
4 – Ignore Sensitivity Foods :

सेनसिटिव ( Sensitive ) से बचना है तो आपको जो सेंसिटिविटी (Sensitivity) करने वाले पदार्थ हैं उनको खाने से जितना हो सके आपको बचना है। जैसे आप बहुत ज्यादा ठंडा या बहुत ज्यादा गर्म नहीं खाए, साथ ही वह चीजें ना खाएं जिस में शुगर (Sugar) की मात्रा ज्यादा होती है क्योंकि शुगर ज्यादा खाने से दांतों का DK  बहुत तेजी से होता है (danto me khatta lagna )। तो यह आपको पहचान करनी है किन में चीनी ज्यादा होती है तो उन पदार्थों से दूर रहें। आप जैसे कोका कोला ( Coca Cola ) या ऐसे कोल्ड ड्रिंक (Cold drinks ) जैसी चीजें हैं या कार्बोनेटेड ड्रिंक्स ( Carbonated Drinks ) दूसरे उनसे भी आपको दूर रहना है। आप सिरके और रेड वाइन जैसी चीजों का, आइसक्रीम का भी सेवन नहीं करें तो अच्छा रहेगा क्योंकि यह आपके दांतों को नुकसान पहुंचाते हैं।

 5- सरसों का तेल और सेंधा नमक

सरसों का तेल और सेंधा नमक
सरसों का तेल और सेंधा नमक

 आपकी सेंसिटिविटी (Sensitivity) हो जाने पर एक बहुत पुराना नुस्खा जो अपनाया जाता था घरों मे उसके बारे मे मई आपको बताता हु। जिसमे आपको चाहिए सरसों का तेल और सेंधा नमक । इसके लिए आप एक चम्मच सरसों का तेल ले लें और उसमें थोड़ा-सा सेंधा नमक लगभग 1 चम्मच के बराबर ही इसको भी ले ले।  और इन दोनों को अच्छी तरह से मिला ले और मिलाकर आप इसको अपने दांतो को यानि मसूड़ों को मसूड़ों को धीरे-धीरे करके मालिश करें। अगर सेंधा नमक नहीं मिले आप समान्य नमक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस प्रकार आपके दांत धीरे-धीरे इस सेंसिटिविटी (Teeth Sensitivity Home Remedies) से मुक्त हो जाएंगे और आपको इसकी समस्या नहीं रहेगी।

Conclusion :  

तो आपने जाना कि  दांतों की सेंसिटिविटी (teeth sensitivity home remedies in hindi ) हो जाने से ठंडा गरम लगता है और ठंडा गरम लगने पर या sensitivity होने पर इससे कैसे बचा जाए। और इसका उपचार कैसे किया जाए sensitive teeth home remedy ayurvedic in hindi ।  आपको यह पोस्ट और नुस्खे पसंद आई हो तो आप इसका इस्तेमाल करें और इस पोस्ट को लाइक  करें और अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ भी शेयर करें ताकि उन्हे भी इस समस्या का इलाज मिल जाए अगर वो इस समस्या से पीड़ित है तो। हमारी ये पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Follow us on Instagram for latest updates of our website @gharkenuskhe_online

Aap Hamare Facebook Page Ko Bhi Follow Kar sakte hai @Gharkenuskhe.online par

2 Trackbacks / Pingbacks

  1. Piles home remedies in Hindi – Causes and Treatment- 100% natural ways
  2. SoyaBean Recipes In Hindi Tasty & Healthy– Nutrela Soya Chunks Recipe

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*